प्राधिकरण के भूखंड पर वर्षों से कब्जा जमाए लोगों के अच्छे दिन आ गए?

शहर की प्रलंबित समस्या हल करने में मुख्यमंत्री साकारात्मक- लक्ष्मण जगताप
भाजपा कार्यालय में आयुक्त का आना गलत नहीं- लक्ष्मण जगताप
बारामती गेस्ट हाऊस में आते थे बडे बडे आला अफसर
पिंपरी- पिंपरी चिंचवड नवनगर प्राधिकरण के भूखंड पर वर्षों से कब्जा जमाए लोगों के अच्छे दिन आ गए. मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने बाधित किसानों को 12.5% परतावा देने के साथ साथ यह भी फरमान जारी किया है कि प्राधिकरण की जमीन पर अतिक्रमण करने वालों को बिना कोई दंड लगाए जमीन उनके नाम की जाए . 500 चौरस फुट तक जमीन पर अतिक्रमण करने वाले धारकों को बिना दंड लगाए मालिकाना हक्क दिया जाएगा. 501 से 1000 फुट तक अगर किसी का अतिक्रमण किया मकान होगा तो उस पर मामूली 10 प्रतिशत और 1001 से 1500 फुट तक वालों पर 25 प्रतिशत दंड लगाकर जमीन संबंधित धारकों के नाम करने की मंजूरी मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने सोमवार की बैठक में दी है . ऐसी जानकारी आज पत्रकार परिषद में भाजपा शहर अध्यक्ष और विधायक लक्ष्मण जगताप ने दी. इस अवसर पर भाजपा समर्पित विधायक महेशदादा लांडगे, महापौर राहुल जाधव, सत्तारुढ नेता एकनाथ पवार, स्थायी समिति सभापति विलास मडेगिरी, भाजपा नगरसेवक बाबू नायर, प्रवक्ता अमोल थोरात, प्रदेश सदस्या उमा खापरे आदि पदाधिकारी उपस्थित थे.
श्री जगताप ने कहा कि मुख्यमंत्री के इस निर्णय से लगभग 1.50 लाख लोगों को फायदा मिलेगा. गरीबों को अपना खुद का घर होगा. भूमिपूत्रों को न्याय देने का काम भाजपा सरकार ने किया. रेडझोन की समस्या केंद्र सरकार के आधीन है लेकिन प्रयास जारी है कि यथाशीघ्र वह भी प्रलंबित समस्या हल हो जाए ताकि वहां के निवासियों को भी न्याय मिल सके.

अजित दादा पवार के बारे में क्या बोले ?  राष्ट्रवादी-कांग्रेस में अजितदादा पवार ने जो काम नहीं कर सके वह काम लक्ष्मण जगताप ने अपनी सरकार से कराया, क्या अजित दादा का इस काम के लिए विरोध था? एक सुलझे हुए राजनेता की तरह जवाब देते हुए श्री जगताप ने कहा कि वो अपने पुराने नेताओं के बारे में कुछ नहीं कहेंगे. इतना जरुर कहेंगे कि कांग्रेस के मुख्यमंत्री शहर की प्रलंबित समस्या के बारे में गंभीर नहीं थे. उनकी सोच शहर के प्रति हमेशा नाकारात्मक रही. जबकि भाजपा मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की सोच शहर के प्रति साकारात्मक है. यही कारण है कि भाजपा ने जो भी वादे किए वो पूरा किए.
भाजपा कार्यालय में आयुक्त पर क्या बोले ? –लक्ष्मण जगताप ने कहा कि भाजपा कार्यालय में आयुक्त का आना कोई गलत नहीं. पालकमंत्री को शुभकामना देने आए थे. जबकि राष्ट्रवादी-कांग्रेस सरकार में बारामती गेस्ट हाऊस में बडे बडे आला अफसर आते थे और घंटों मीटिंग करते थे.
मंत्री पद की इच्छा पर क्या बोले? श्री जगताप ने कहा कि पिंपरी चिंचवड शहर की जटिल व वर्षों पुरानी प्रलंबित समस्या बिना कोई मंत्रिपद के हल हो गई तो फिर शहर को मंत्रि पद की क्या जरुरत? मंत्रिपद नहीं बल्कि शहर के नागरिकों की समस्या हल करना ही हमारी प्राथमिकता है.