बांग्लादेश ने सरहद पर लगे पिलरों से मिटाया PAK का नाम, PM के आदेश पर की कार्रवाई

भारत के साथ लगती सीमा पर लगे सभी पिलरों पर अब पूर्वी पाकिस्तान की जगह बांग्लादेश लिख दिया गया है. ऐसा बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना के आदेश पर किया गया है. यह जानकारी बांग्लादेश बॉर्डर गार्ड ने बयान जारी कर दी है.

सीमा पर लगे पिलरों पर दर्ज था पूर्वी पाकिस्तान

मोदी सरकार ने 2016 में शुरू किए थे प्रयास

पिछले साल बांग्लादेश ने दी थी सहमति

आर्थिक मोर्चे पर जूझ रहा पाकिस्तान जम्मू कश्मीर के मसले पर पूरी दुनिया में मुंह की खा चुका है. इन सबके बीच अब बांग्लादेश और भारत की सरहद से भी पाकिस्तान का नाम मिट गया है. बांग्लादेश सरकार ने सीमा पर लगे पिलरों से पूर्वी पाकिस्तान का नाम मिटा दिया है.

भारत के साथ लगती सीमा पर लगे सभी पिलरों पर अब पूर्वी पाकिस्तान की जगह बांग्लादेश लिख दिया गया है. ऐसा बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना के आदेश पर किया गया है. यह जानकारी बांग्लादेश बॉर्डर गार्ड ने बयान जारी कर दी है.

डेली स्टार की रिपोर्ट के अनुसार सन 1947 में भारत और पाकिस्तान के विभाजन के समय सीमा पर आठ हजार से अधिक पिलर लगाए गए थे, जिन पर “IND-PAK/INDIA-PAKISTAN” लिखा गया था. बांग्लादेश 1971 में पाकिस्तान से आजाद होकर अलग राष्ट्र के रूप में अस्तित्व में आ गया, लेकिन पिलरों पर नाम पूर्वी पाकिस्तान ही था.

गौरतलब है कि भारत सरकार ने सरहद पर लगे पिलरों पर पाकिस्तान की बजाय बांग्लादेश नाम लिखवाने के लिए तीन साल पहले सन 2016 में प्रयास तेज कर दिए थे. भारत सरकार के गृह मंत्रालय ने विदेश मंत्रालय से संपर्क साधकर इसके लिए आवश्यक औपचारिकताओं को पूरा किया.

बांग्लादेश की सरकार पिछले साल पिलरों पर नाम बदलने के लिए सहमत हुई थी. पहले चरण में असम से लगती सीमा पर लगे पिलरों पर दर्ज नाम बदले गए.